Most Recent Post

RADAR क्या है। और RADAR कैसे काम करता है ?

दोस्तों हम इंसान technology के क्षेत्र में आज इतने आगे बढ़ चुके हैं कि RADAR और SONAR जो हमारी इंसानी आंखे नहीं देख सकती उन तरंगो का भी हमने कितना अच्छा उपयोग कर दिया है, आज ये दोनों technology हमारी ज़िन्दगी का एक अहम हिसा बन गए हैं। SONAR के बारे में तो मैं आपको अपने पिछले लेख में समझा चूका हूँ। आप उसको पढ़ सकते हैं इस लिंक –> SONAR क्या होता है पर जाकर पढ़ सकते हैं। और आज मैं आपको बताने वाला हँ RADAR के बारे में तो बिना समय गवाए जानते हैं।

(RADAR) रडार क्या होता है –

रडार ( radar ) का पूरा नाम Radio detection and ranging” होता है, जिसका अविष्कार  Teller and Liyo ying  ने सन 1922 में किया था। और फिर बाद में इसको द्वितीय विश्व युद्ध  के दौरान सैन्य बलो द्वारा दुश्मन को नाकामयाब करने के लिए और अच्छे तरीके से विकसित किया गया था। यह technology Radio wave से किसी भी गतिमान वस्तु जैसे – हवाई जहाज, पानी का जहाज या किसी भी गाड़ी  की Distance, Speed, Height आदि का पता लगाने के काम आती है। इसका उपयोग मौसम के बारे में पता लगाने के लिए भी किया जाता है।
जैसे सोनार technology में sound wave को छोड़ा जाता है और फिर उन waves का किसी वस्तु से टकराकर वापस आन में लगाये गए समय से पता लगाया जाता है की वस्तु कितनी दूर पर है। ठीक उसी तरह से हम Radio waves का स्तेमाल करते हैं। जिसमें  एक transmitter से radio waves को छोड़ा जाता है। और फिर उनके किसी objects से टकराकर वापस आने में लगाए गए समय से वस्तु का पता लगाया जाता है। और सिर्फ किसी चीज की मौजूदगी का ही पता नहीं बल्कि जमीन से उस object की क्या height है, और और उसकी क्या speed है, यह भी पता लगाया जा सकता है। तो दोस्त अब आपको इतना पता चल ही गया होगा कि radar या रडार क्या होता है ? तो चलिए अब जानते है कि radar technology कैसे काम करती है ?
रडार कैसे काम करता है | How radar works in hindi –

रडार (radar) कहने के लिए तो एक शब्द है। मगर इसमें  Antenna Diplexer, Transmitter, Phase-Lock Loop (PLL), Receiver और  Processing लगा होता है। इसके Transmitter से हर सेकंड लगातार radio waves निकलती रहती हैं। यह छोटे-छोटे कंपन यानी electromagnetic radiation के रूप में होती है। इसलिए इन waves की speed Light की स्पीड से ज्यादा तो नहीं पर light के ही बराबर होती है।



यह भी पढ़ें :- क्या आप जानते हैं समुद्र कितना गहरा है ?

जब ये waves किसी objects से टकराकर वापस आती है तो रडार का Receiver इन signals को प्राप्त करता है और उन waves के आने और जाने में लगे समय की calculation करता है। और फिर वह received data को एक तस्वीर के रूप मे computer पर दिखाता है। रडार से लगातार निकलने वाली radio wave से उस object की speed, धरातल से ऊंचाई और दूरी का भी आसानी से पता लगाया जा सकता है, जैसे कि मैं आपको उपर पहले ही बता चूका हूँ।

क्या रडार की radio waves को बाधित किया जा सकता है ?

दोस्तों दुनिया में हर सिक्के के दो पहलु होते हैं और हर चीज का तोड़ Genius people निकाल ही लेते हैं, जी हाँ रडार  की radio waves को भी बिलकुल बाधित किया जा सकता है। क्योंकि RADAR waves पर काम करता है जो भी waves वापस जाएगी वो संचालको को बता देगी की वह किसी चीज से टकराकर वापस आई है। इसलिए इस से छुपे रहने के लिए किसी तरह हमें वह तकनीक अपनाने होगी जी से सिग्नल receiver तक पहुँच ही न पाए। और वह हम नीचे दिए गए तीन तरीको से कर सकते हैं ।

यदि कोई वस्तु fake single generate करे तो उस से Original RADAR singles को भ्रमित किया जा सकता है, फिर वो असली वाले रडार सिग्नल से मिलकर गलत जानकारी पहुंचाएंगे या फिर receiver तक पहुँच ही नहीं पाएंगे ।
यदि किसी भी हवाई जहाज या लड़ाकू विमान डिजाईन sharp corner है या नुकीला है, तो signal विमान पर टकराकर बिखर जाते हैं, और रिसिवर तक नहीं पहुँच पाते हैं ।
यदि कोई विमान बहुत कम ऊंचाई पर है और उसके आस पास पहाड़ पेड़ पौधे और बिल्डिंग्स हैं। तो signal इधर उधर टकराकर ख़त्म हो जाते हैं और receiver तक नहीं पहुँच पाते हैं ।
तो दोस्तों आशा करता हूँ कि रडार क्या होता है ? RADAR कैसे काम करता है ? अपको पता चल गया हो और यदि कोई भी सवल या सुझाव है तो आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं ।