Most Recent Post

GPS क्या है और GPS कैसे काम करता है ?

GPS क्या है, दोस्तों अपने बहुत बार जीपीएस का नाम सुना होगा और शायद आप जीपीएस के बारे में जानते भी होंगे और अगर नहीं जानते तो कोई बात नहीं मैं आपको बताता हूँ। कि GPS  क्या होता है तो चलिए अब जानते हैं ।

GPS क्या है | what is GPS ?

GPS का पूरा नाम Global Positioning System होता है जो एक ऐसा सिस्टम है जिसकी मदद से हम अपने मोबाइल, लैपटॉप, टेबलेट्स या किसी अन्य नेविगेशन गैजेट की मदद से अपनी लोकेशन का आसानी से पता लगा सकते  हैं । ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) 20,000 किलोमीटर की ऊंचाई पर पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले लगभग 30 उपग्रहों का एक नेटवर्क है । जिनसे आपका जीपीएस रिसीवर treelimentation नाम की एक टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके हर सेकंड सिगलन  प्राप्त करता है और आपको आपकी सही लोकेशन बता है ।

GPS की शुरुवात

gps की शुरवात 1959 में US नौसेना ने पहली वास्तविक उपग्रह नेविगेशन प्रणाली का निर्माण किया, जिसे ट्रांजिट कहा जाता है। जिनको पनडुब्बियो का पता लगाने के लिए बनाया गया था  लेकिन ट्रांसिस्ट में समस्या यह थी कि इस से सिग्नल पाने के लिए उनको घंटो इन्तेजार करना पड़ता था । 1963 में  अमेरिका की Aerospace Corporation नामक संस्था ने अमेरिकी सेना के लिए एक शोध किया । जिसमे उन्होंने कई तरह की Research की और और अंततः एक ऐसी तकनीक को खोज निकाला, जो लगातार धरती पर सिग्नल भेज सके और धरती की सतह और हवा में चलने वाले विमानों का आसानी से तुरंत पता लगा सके । और इसी तकनीक का नाम था GPS (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) ।


पिछेल 10 बार सालो से रिसर्च और शोध करते हुए आखिरकार अमेरिकी एयरफोर्स ने अपने नेविगेशन परपस के लिए कुछ satellite  लांच किये  । जो हमको exact location का पता तो नहीं बताती थी लेकिन एक अंदाजन लोकेशन हमें तुरंत बता देती थी । उसके बाद धीरे धीरे satellite में सुधार होता गया । और इसको फ़ास्ट और सतीक बनाने के लिए लगातार काम किया गया । लेकिन 1983 में जब एक सिविलियन एयरक्राफ्टरूस गलती से रूस के एयर स्पेस में घुस गया था। तो रूस ने उस जहाज  को मार गिराया इसलिए US गवर्नमेंट ने यह फैसला किया की GPS  को आम पब्लिक के लिये भी उपलब्ध कर दिया जाना चाहिये, और साथ ही साथ उनको जहाजो में भी उनकी सटीक लोकेशन का पता लगाने के लिए उपयोग किया जाएगा।